सोलर पैनल क्या है? | Types Of Solar Panels

सोलर पैनल क्या है?

 हेलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल / Article के माध्यम  से सोलर पैनल / Solar Panel के बारे में जानेंगे और इसके मानव जीवन में क्या-क्या फायदे हैं और इससे हम अपने घर में क्या-क्या उपकरण चला सकते हैं तथा सोलर पैनल किस तरह काम करता है, इसी प्रकार सोलर पैनल कितने प्रकार के होते हैं इसके बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे और यह कितने किलो वाट तक बिजली उत्पन्न करता है इसके बारे में आपको विस्तार से बताएंगे।

सोलर पैनल से आप अपने घर में क्या चला सकते हैं?

सोलर पैनल सूर्य से प्राप्त ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित कर विद्युत का संचालन करता है जिससे हम अपने घर में सभी प्रकार की लाइट व पंखे बहुत आसानी से चला सकते हैं जिससे हम अपने घर की रोशनी को लाइट जाने के बाद भी बनाए रख सकते हैं सोलर पैनल द्वारा सूर्य ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित कर अनेक प्रकार की मशीनरी इत्यादि वस्तु चला सकते हैं ,

जैसे कि आप जानते हैं सोनल पैनल / Solar Panel मानव जीवन में एक नई मशीनरी के रूप में काम कर रहा है तथा इसका प्रयोग ग्रामीण इलाकों में लाइट नहीं होने पर अधिक से अधिक किया जा रहा है वहां के छोटे छोटे बिजनेस भी सोलर पैनल के द्वारा ही चलाए जा रहे हैं और वहां के घरों में लाइट का कार्य भी सोलर पैनल द्वारा ही बना हुआ है ।

सोलर पैनल कितने प्रकार के होते है?

 दोस्तों सोलर पैनल दो प्रकार के होते हैं और यह दोनों अलग-अलग कैपेसिटी में होते हैं, 

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल / Polycrystalline Solar Panel

 मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल / Monocrystalline Solar Panel

1 – पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल  –                                                                                                                                                                             दोस्तो यह सोलर पैनल एक अलग टाइप का सोलर पैनल है इस सोलर पैनल की , F.C.N.C फिकूंसी  रेट लगभग 16% से 17%  के करीब है तथा यह सोलर पैनल किसी मौसम में काम करने के लिए सबसे अधिक लोकप्रिय माना जाता है तथा इसकी मैन्युफैक्चरिंग भी सिलिकॉन से बनी होती है और इस सोलर पैनल की ऊपरी सतह हल्के नीले रंग की होती है ।

2 – मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल  –                                                                                                                                                                              दोस्तों यह सोलर पैनल दूसरे नंबर पर आने वाला सबसे सफल सोलर पैनल माना जाता है इसकी फ्रीक्वेंसी और क्वालिटी हाई होती है तथा यह भी सबसे अच्छी हाई क्वालिटी की सिलिकॉन से बना होता है तथा इसका फ्रीक्वेंसी रेट भी 19% से 20% के बीच पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल से अधिक होती है तथा इस सोलर पैनल की ऊपरी सतह देखने में काले रंग की होती है ।

1 किलो वाट के सोलर पैनल से आप क्या-क्या चला सकते हैं? 

दोस्तों 1 किलो वाट का सोलर पैनल में सोलर इनवर्टर / Solar Inverter तथा सोलर बैटरी / Solar Battery और अन्य सोलर उपकरण शामिल रहते हैं तथा यह सौर ऊर्जा से बिजली को उत्पन्न करता है 1 किलो वाट के सोलर पैनल से हम अपने घर के सभी लाइट्सपंखे व  इनवर्टर कंप्रेशर के फ्रिज भी चला सकते हैं यह 800 वाट तक के लोड को बहुत आसानी से चलाने में सक्षम है,

यदि सोलर पैनल इससे अधिक लोड उठाने में असमर्थ रहता है तो आप इसमें सोलर बैटरी का उपयोग भी कर सकते हैं जिससे कि दोनों की उर्जा से मिलकर हम अपना 800 वाट तक बिजली उत्पन्न कर अपनी जरूरत को पूरा कर सकते हैं 1 किलो वाट के सोलर पैनल से एक छोटे से बिजनेस को भी बहुत आसानी से चलाया जा सकता है तथा इसकी मदद से हम अपने छोटे-छोटे उपकरण मशीनरी इत्यादि भी चला कर अपना बिजनेस भी चला सकते हैं ।  

1 किलो वाट के सोलर पैनल को लगाने में कितना खर्च आता है? 

दोस्तों अगर हम अपने घर पर 1 किलो वाट का सोलर पैनल या 800 वाट का विद्युत का उपकरण लगाना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे पहले हमें 100 स्क्वायर फीट जगह का तय करना बहुत जरूरी है क्योंकि 1 किलो वाट के सोलर पैनल के लिए 100 स्क्वायर फीट जगह की आवश्यकता सबसे पहले पड़ती है तथा इस सोलर सिस्टम की कीमत सोलर पैनल के ब्रांड पर भी निर्भर करती है,

1 किलो वाट का सोलर पैनल कई ब्रांडों में उपलब्ध है जितना अच्छा सिस्टम होगा उसकी उतनी ही अच्छी ऊर्जा देने की कैपेसिटी होगी, सोलर सिस्टम का दौर आज के युग मे आगे की ओर बढ़ता ही जा रहा है तथा 1 किलो वाट का सोलर पैनल या सोलर सिस्टम का खर्चा 60000 से 70000 रुपए आ जाता है।

Read more…                    

निष्कर्ष,

दोस्तों आज हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया हैं कि सोलर पैनल / Solar Panel का बिजनेस कैसे करें और उसको करने के लिए आपको किस किस चीजों की आवश्यकता पड़ सकती है और साथ ही आपको होने वाला फायदा और नुकसान के दोनों के बारे में हमने बताया है हम आशा करते हैं दोस्त यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा यदि आपको आर्टिकल पसंद आया है तो आप इसको ज्यादा से ज्यादा लोगों को शेयर करें ताकि और लोग भी इसका बेनिफिट ले सके ।

Leave a Comment