स्लिप डिस्क क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

what is slip disc

स्लिप डिस्क क्या है?

दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि, स्लिप डिस्क क्या है? ( slip disc problem in hindi) आजकल की भागदौड़ भरी लाइफ में हमलोग सबसे ज्यादा हेल्थ की समस्या का सामना कर रहें है। स्लिप डिस्क की समस्या भी एक बहुत भयानक समस्या है। स्लिप डिस्क होने पर बहुत भयानक दर्द होता है। स्लिप डिस्क के वैसे तो तीन प्रकार होते है। लेकिन आज हम आपको लम्बर स्लिप डिस्क के बारे में बताएंगे। 

 यह समस्या होने पर व्यक्ति को बेठना मुश्किल हो जाता है। पहले के समय में यह समस्या 40 वर्ष के बाद आती थी। लेकिन आज के युवा भी स्लिप डिस्क की समस्या का सामना कर रहें है। ज्यादातर स्लिप डिस्क की समस्या ज्यादा भारी सामान  उठाने से, कैल्शियम की कमी से और एक ही जगह पर ज्यादा देर तक बैठे रहने से होती है।

स्लिप डिस्क के प्रकार

स्लिप डिस्क के वैसे तो तीन प्रकार होते है। लेकिन आज हम आपको लम्बर स्लिप डिस्क के बारे में बताएंगे।

लम्बर स्लिप डिस्क:- लम्बर  स्लिप डिस्क की प्रॉब्लम रीढ़ की हड्डी के निचले हिस्से में होता है,जो कि कमर दर्द का सामान्य कारण बनता है।

सर्वाइकल स्लिप डिस्क:- सर्वाइकल स्लिप डिस्क गर्दन में होता है, गर्दन के दर्द के कारणों में से एक कारण यह भी हो सकता है।

थोरैसिक स्लिप डिस्क:-  अन्य स्लिप डिस्क की तुलना में, थोरैसिक रीढ़ की हड्डी की स्थिति या संरचना में परिवर्तन बहुत दुर्लभ होता है। थोरैसिक स्लिप डिस्क बहुत कम देखने को मिलती है।

स्लिप डिस्क होने के कारण

  • उम्र बढ़ने के साथ साथ हड्डियां कमजोर हो जाती हैं, जिसकी वजह से यह समस्या आ सकती है।
  • अधिक वजन उठाने से कमर की डिस्क खिसक सकती है।
  • किसी दुर्घटना में चोट लगने की वजह से और
  • शरीर में कैल्शियम की कमी होने से भी यह समस्या हो सकती है।
  • झुक कर काम करने की वजह से और
  • कई घंटो तक एक जगह पर गलत तरीके से बैठ कर काम करने की वजह से हमारी डिस्क पर जोर पड़ता है।
  • अधिक देर तक गाड़ी चलाने से।

स्लिप डिस्क के लक्षण

    • कमर और पैर में दर्द में होता है।
    • पेशाब करने में जलन।
    • झुकने पर दर्द होता है।
    • चलने फिरने में दर्द होता है।
    • पैर में कमजोरी आ जाती है।
    • पैर की उंगलियां सुन होने लगती है।
    • रीढ़ की हड्डी पर दबाव पड़ना।

स्लिप डिस्क का घरेलू उपचार

सेंधा नमक का उपयोग करें

सेंधा नमक को पानी में डालकर नहाने से स्लिप डिस्क की समस्या से राहत मिलती है। यह बहुत ही कारगर उपाय है। इसके लिए आप 1 कप सेंधा नमक को 1 बाल्टी गर्म पानी में डालकर घोल लें। इस पानी के हल्का ठंडा होने पर स्नान करें। ऐसा करने से आपको मांसपेशियों में जकड़न की समस्या से राहत मिलेगी।

दालचीनी और शहद

स्लिप डिस्क के दर्द से राहत पाने के लिए शहद के साथ दालचीनी पाउडर का सेवन करें। दिन में दो बार इस मिश्रण का सेवन करने से स्लिप डिस्क के दर्द से राहत मिलेगी।

काली मिर्च और लौंग का इस्तेमाल

काली मिर्च और लौंग के एक साथ इस्तेमाल से आप स्लिप डिस्क के दर्द से निजात पा सकते है। इसके लिए आप पांच काली मिर्च और पांच ही लौंग लें और इन्हें पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण का सेवन आप चाय में डालकर दिन में कम से कम दो बार करें। ऐसा करने से आपको स्लिप डिस्क के दर्द में अवश्य ही आराम मिलेगा।

नारियल का तेल की मालिश करें

नारियल का तेल स्लिप डिस्क की समस्या में बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि इस तेल में कैल्शियम, विटामिन डी पाया जाता है। नारियल के तेल में लहसुन की कलियों को मिलाकर उसे गर्म करें और गुनगुना होने पर इससे कमर की मालिश करें। इससे दर्द में अवश्य ही लाभ मिलेगा।

व्यायाम जरूर करें

स्लिप डिस्क के दर्द में आपको थोड़ी बहुत हल्की एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए। स्लिप डिस्क की प्रॉब्लम में किसी भी तरह की कोई कठिन एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *