एटीएम फ्रॉड से कैसे बचें

How to Avoid ATM Fraud in hindi

दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि, कैसे एटीएम फ्रॉड से बचा जा सकता है। (How to Avoid ATM Fraud in hindi) प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के अमूल्य योगदान के वजह से आज हमारा देश डिजिटल इंडिया की तरफ ज्यादा बढ़ रहा है। डिजिटल इंडिया के चलते लगभग सभी के पास एटीएम कार्ड होना आम सी बात है। एटीएम कार्ड और एटीएम मशीन ने लोगों के भागदौड़ भरे जीवन को बेहद आसान बना दिया है। एटीएम कार्ड ने लाइन में लगने के झंझट खत्म को ख़त्म कर दिया है। यह बात तो आप जानते है जो चीज जितना सुविधा देती है, complete information न होने के कारण तकलीफ का कारण भी बन जाती है।

एटीएम कार्ड को इस्तेमाल करना जितना आसान और सुविधाजनक है, इसे इस्तेमाल करना उतना ही कठिन काम है। इसलिए एटीएम का प्रयोग करते वक्त सावधानी बरतनी चाहिए, वरना मुसीबत का सामना भी करना पढ़ सकता है। क्योंकि आज के समय में डिजिटल ट्रांजेक्शन पर साइबर हमले का खतरा और एटीएम कार्ड की क्लोनिंग जैसी घटनाएं बढ़ गई हैं। और  इसी के चलते आजकल बहुत से लोग एटीएम फ्रॉड का शिकार हो रहें है। आज हम आपको बताएंगे कि, एटीएम फ्रॉड से कैसे बचा जा सकता है।

आइये जानते है  एटीएम फ्रॉड से कैसे बचा जा सकता है

डुप्लीकेट एटीएम

Atm scammer डुप्लीकेट एटीएम का इस्तेमाल करते है जिसमें ऐसे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाता है जो उन मशीनों पर टाइप किए गए पासवर्ड रिकॉर्ड कर लेता है। उसके बाद डुप्लीकेट कार्ड निर्मित किए जाते हैं और चोरी के पासवर्ड का उपयोग कर पैसे निकाले जाते है।

अपने पिन को secure रखिए

Atm card को किसी भी तरह के खतरे से बचाने के लिए आप अपने पिन को सुरक्षित रखें। पिन को सुरक्षित करने का मतलब अपने बैंक बैलेंस को सुरक्षित करना। अपने पिन को किसी के भी साथ शेयर मत करें। समझदारी इसी में है कि, अपने पिन को याद रखिए और इसे कहीं भी लिखिए मत।

एटीएम मशीन पर स्‍कैनर भी लगा हो सकता है

Atm scammer एटीम मशीन में कार्ड एंटर करने वाली जगह पर स्कैनर फिक्स कर देते हैं। यह स्कैनर एटीएम मशीन के जैसा ही होता है, इसलिए पता ही नहीं चलता कि कार्ड एंटर करने वाली जगह पर कोई स्कैनर लगा है। इसलिए ध्यान रखें कि, कार्ड एंटर वाली जगह पर अगर लाइट जल रही है तो सब ठीक है लेकिन अगर बंद है तो एटीएम मशीन पर स्‍कैनर भी लगा हो सकता है।

How to Avoid ATM Fraud in hindi

बैंक को फ्रॉड की सूचना अवश्य दें

भारतीय रिजर्व बैंक के सर्कुलर के मुताबिक अगर आपके बैंक अकाउंट से कोई फ्रॉड हुआ है तो आपको बैंक को इसके बारे में तीन दिन के अंदर जानकारी देनी होगी। अगर आप ऐसा करते है, तो इस मामले में आपकी जिम्मेदारी शून्य होगी। अगर फ्रॉड आपकी गलती या लापरवाही से नहीं हुआ है तो बैंक आपके नुकसान की पूरी भरपाई करेगा।

एटीएम फ्रॉड से कैसे बचें?

जब भी आप एटीएम में अपना पिन कोड डालते है तो की-बोर्ड को हाथ या शरीर के जरिए ढंक लें। क्योंकि आसपास कैमरे भी हो सकते है  और आपके साथ फ्रॉड हो सकता है। इसके साथ ही बैंक account से अपना mobile नंबर रजिस्टर करवाएं क्योंकि ऐसा करने से रोज होने वाले लेनदेन की सूचना एसएमएस के जरिए आप तक पहुँच जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *