लगातार हेडफोन इस्तेमाल करने के नुकसान

headphone ke nuksan in hindi

दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि, लगातार लम्बे समय तक हेडफोन लगाकर song सुनना आपके लिए  कितना नुकसानदायक हो सकता है। ( headphone ke nuksan in hindi) आज के दौर में, टेक्नोलॉजी की वजह से हमारा जीवन सरल और सुविधाजनक बना गया है और दूसरी तरफ इसके कई बुरे प्रभाव भी देखने को मिलते है। आज हम आपको टेक्नोलॉजी की, एक ऐसी ही सुपर सुविधाजनक चीज यानि कि इयरफोन या हेडफोन के बुरे प्रभावों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं।

हमलोग खाली समय में समय बिताने के लिए song सुनते है और song सुनने के लिए  इयरफोन या हेडफोन का सहारा ले लेते है। song सुनते सुनते हमें ये भी पता नहीं चलता कि, हमने कितनी देर हेडफोन का इस्तेमाल कर लिया है। कुछ लोगो को पता होता है कि, हेडफोन का ज्यादा इस्तेमाल उनके लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है। लेकिन फिर भी वें इस डिवाइस को छोड़ने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं है।

हेडफोन के ज्यादा देर तक इस्तेमाल करने से आपको अपने कानों से सम्बन्धित समस्या का सामना करना पड़ सकता है। एक रिसर्च के मुताबिक यदि कोई व्यक्ति प्रतिदिन एक घंटे से अधिक वक्त तक 80 डेसीबेल्स से अधिक तेज आवाज में संगीत सुनता है, तो उसे सुनने में संबंधित समस्या का सामना करना पड़ सकता है या फिर वह स्थायी रूप से बहरा भी हो सकता है। आज हम आपको लगातार हैडफ़ोन का ज्यादा देर तक इस्तेमाल करने के नुकसान के बारे में बताएंगे।

आइये जानते है, ज्यादा देर तक हेडफोन का इस्तेमाल करने से आपको क्या नुकसान हो सकते है:-

नींद कम आती है

हेडफोन के ज्यादा इस्तेमाल करने से अनिंद्रा की समस्या भी हो सकती है। नींद कम आना, डिप्रेशन, लम्बे समय तक सिर में दर्द रहना और मानसिक तनाव का एक कारण ज्यादा देर तक हैडफ़ोन का करना भी हो सकता है। आपका फायदा इसी में होगा कि, आप लम्बे समय तक हेडफोन का इस्तेमाल करने से बचें।

कान में दर्द हो सकता है

लगातार हेडफोन का इस्तेमाल करने से कान में दर्द की समस्या होने लगती है। अगर आप जल्द ही अपनी इस आदत को नहीं छोड़ेंगे तो परिणाम खतरनाक भी हो सकते है।

दिमाग को नुकसान पहुंचता है

हेडफोन के लगातार ज्यादा इस्तेमाल से दिमाग को काफी नुकसान पहुंचता है। क्योंकि हेडफोन से निकलने वाली विद्युत चुंबकीय तरंगे दिमाग के सेल्स को काफी प्रभावित करती है। हेडफोन के ज्यादा इस्तेमाल करने से कान में दर्द, सिर दर्द या नींद न आने जैसी सामान्य समस्याएं हो सकती है।

कम सुनाई देने की समस्या

हेडफोन और ईयरफोन में हाई डेसीबल वेव्स होते हैं। इनका ज्यादा इस्तेमाल करने से आप हमेशा के लिए अपनी सुनने की क्षमता खो सकते है। यानि के आपको बहरापन का सामना भी करना पड़ सकता है।  इसके लगातार प्रयोग से सुनने की क्षमता 40 से 50 डेसीबेल तक कम हो जाती है। कान का पर्दा वाइब्रेट होने लगता है। आप अपनी कोशिश यही रखें कि, 90 डेसीबल से अधिक आवाज में गाने न सुनें।

कान में इंफेक्शन हो सकता है

हेडफोन या ईयरफोन से ज्यादा देर तक song सुनने से कान में इंफेक्शन भी हो सकता है। इसलिए जब भी आप किसी के साथ ईयरफोन शेयर करें, तो उसे सेनिटाइजर से साफ करना न भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *